More
    HomeHindustanTimesवोट बैंक का जरिया बना श्रद्धा का हत्यारा आफताब? भाजपा और कांग्रेस...

    वोट बैंक का जरिया बना श्रद्धा का हत्यारा आफताब? भाजपा और कांग्रेस आमने-सामने


    ऐप पर पढ़ें

    दिल्ली का श्रद्धा मर्डर केस पूरे देश में ही चर्चा का विषय बना हुआ है। गुजरात चुनाव में भी इस मुद्दे की एंट्री हो गई है। असम के मुख्यमंत्री हिमंता बिस्वा सरमा ने आफताब पूनावाला का जिक्र किया था। इसके बाद गुजरात में चुनावी प्रचार के दौरान राजस्थान के मुख्यमंत्री अशोक गहलोत ने इस हत्याकांड को दुर्घटना का नाम दे दिया और कहा कि एक कौम को टारगेट किया जा रहा है। कुल मिलाकर कांग्रेस और भाजपा इस मामले को लेकर अपना-अपना वोट बैंक साधने के प्रयास में लग गए हैं। 

    दरअसल अशोक गहलोत भले ही भाजपा पर आरोप लगा रहे हों लेकिन वह आफताब का नाम लेकर काम वही कर रहे हैं। उनकी बात के पीछे भी वोट बैंक ही छिपा हुआ है। वहीं भाजपा और कई हिंदू संगठन इस मामले को लव जिहाद का नाम दे रहे हैं। हिंदू संगठनों ने जगह-जगह जुलूस निकाले। अशोक गहलोत के बयान को लेकर गुजरात के गृह मंत्री हर्ष सांघवी ने कहा, गहलोत जी के विचार सुनकर बहुत दुखी हूं। उनका बयान वोट बचाने के चक्कर में आया है। यह मर्डर क्रूरता के साथ किया गया है। इसमें धर्म की बात कहां से आ गई। हर विषय में ये लोग धर्म की बात ले आते हैं। 

    एमसीडी चुनाव में भी आफताब का नाम
    बात केवल गुजरात चुनाव की नहीं है बल्कि दिल्ली के एमसीडी चुनाव प्रचार में भी आफताब के नाम का इस्तेमाल किया जा रहा है। दिल्ली के नगर निगम चुनाव के लिए प्रचार करने पहुंचे असम के सीएम हिमंता बिस्वा सरमा ने भी आफताब का नाम लिया। उन्होंने कहा अगर प्रदेश में एक ताकतवर नेता नहीं होता है तो ऐसी घटनाएं होती हैं। जाहिर सी बात है कि वह हर बार इस बयान को दोहराकर हिंदू वोट बैंक को साधने का प्रयास कर रहे हैं। उन्होंने कहा, जब से आम आदमी पार्टी का शासन आया तब से इस धरती पर अमानतुल्ला खान जैसा व्यक्ति पैदा हो गया। 

    उत्तर प्रदेश के भाजपा नेताा विनीत शारदा ने भी आफताब का नाम लिया और कहा कि पीएम मोदी बेटी पढ़ाओ बेटी बचाओ का नाम लेते हैं. आज की कुछ युवा पीढ़ी इसको समझने को तैयार नहीं है। जहां किसी मोहल्ले में अगर पेट में दाढ़ी रखने वाले आएं तो कत्ले आम करने से भी ना चूकना। 

    गुजरात में भी सरमा ने किया था जिक्र
    गुजरात के कच्छ में चुनाव प्रचार करने पहुंचे हिमंता बिस्वा सरमा ने आफताब मामले का जिक्र किया था। उन्होंने कहा था, 2024 में तीसरी बार मोदी का मुख्यमंत्री बनना जरूरी है। अगर देश में ताकतवर नेता नहीं होगा तो आफताब पैदा होगा। इस मामले में भाजपा सांसद साक्षी महाराज भी बयान दे चुके हैं। उन्होंने विपक्ष को आड़े हाथों लेते हुए कहा था कि इस मामले में सेक्युलर विपक्ष को सांप सूंघ गया है क्या। उन्होंने सलाह दी थी कि हिंदू लड़कियों को मुस्लिम लड़कों से दूर रहना चाहिए। 

    Source

    LEAVE A REPLY

    Please enter your comment!
    Please enter your name here

    Must Read

    spot_img